‘जस्टिस फॉर जफर’ मंच ने निकाला प्रतिवाद मार्च

राजस्थान के प्रतापगढ़ में 8 अक्टूबर 2018 को ‘जस्टिस फॉर का. जफर मंच’ के बैनर तले नगर पालिका से जिला कलेक्टर तक एक मार्च निकालकर का. जफर को न्याय की मांग की गई. करीब 11.00 बजे प्रतापगढ़ शहर और जिले की विभिन्न तहसीलों से भाकपा-माले एवं ऐक्टू कार्यकर्ता और लोकतंत्र पसंद नागरिक नगर पालिका पर एकत्रित हुए और वहां से ‘का. जफर को न्याय दो, का. जफर के हत्यारों को गिरफ्तार करो, फाइनल रिपोर्ट को रद्द करो, भूमाफियाओं की दलाली बंद करो, प्रतापगढ़ की सभी कच्ची बस्तियों में पट्टे दो, हत्यारों को राजनीतिक संरक्षण देना बंद करो’ जैसी मांगों को बुलंद करते हुए रैली के रूप में प्रतापगढ़ के प्रमुख रास्तों से होते हुए जिला कलेक्टर कार्यालय तक पहुंचे. वहां पर हुई सभा को शंकर लाल चौधरी, महेंद्र चौधरी, दिलखुश, का. जफर की पत्नी रशीदा, अनवर, शहनाज, शिवलाल आदि ने संबोधित किया. ज्ञात हो कि ऐक्टू के निर्माण मजदूर नेता का. जफर की पिछले साल 16 जून को उन्मत्त गिरोह द्वारा हत्या तब हुई जब वह शौच जाती हुई महिलाओं की फोटोग्राफी/वीडियोग्राफी का विरोध कर रहे थे. वह मोदी सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी योजना ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के पहले शिकार थे.  

सभा के दौरान शंकर लाल चौधरी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल अतिरिक्त जिला कलेक्टर प्रशासन और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से मिला और का. जफर को न्याय और जनमांगों को लेकर ज्ञापन दिया गया. शंकर लाल चौधरी ने कहा कि भाकपा-माले का. जफर को न्याय दिलाने के लिए सड़कों की लड़ाई के साथ-साथ कोर्ट में इसके खिलाफ मजबूती से कानूनी हस्तक्षेप करेगी. फाइनल रिपोर्ट के खिलाफ विरोध पिटिशन लगा दी गई है और जफर को न्याय के लिए सर्वोच्च न्यायालय तक जाया जायेगा.

 

Justice for Zafar
वर्षः 13
अंकः 8