नवउसारी मिस्त्री मजदूर यूनियन, मानसा ;पंजाबद्ध के नेतृत्व में निर्माण मजदूरों का 65 दिनों का सफल धरना

नवउसारी मिस्त्री मजदूर यूनियन, मानसा (पंजाब) की अगुवाई में निर्माण मजदूरों ने 15 मई 2018 से डी.सी. कॉम्प्लेक्स पर 65 दिन लंबा धरना दिया. धरने के माध्यम से उसारी मजदूरों का वेलफेयर बोर्ड द्वारा नवीकरण, बच्चों के वजीफे, सगुन स्कीम, अनुग्रह अनुदान और साल 2014-15 से बंद पड़े काम को चालू करवाने जैसी मांगों को उठाया गया. धरने का नेतृत्व गुरजंट सिंह, रणजीत सिंह तामकोट और  नरिन्दर कौर बुर्ज हमीरा ने किया.

धरने के दौरान 1 जून और 13 जून को विशाल रैलियों का आयोजन करके लेबर इंस्पेक्टर का घेराव भी किया गया. धरने के 65वें दिन तहसीलदार मानसा की तरफ से सिटी-2 के प्रशासनिक अधिकारियों की उपस्थिति में अनुग्रह अनुदान की फाइलें स्वीकार की गईं, और डी.सी. मानसा और पंजाब एंड अदर कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर बोर्ड की तरफ से उसारी मजदूरों की बच्चियों के नाम 1.2 करोड़ रुपये का चेक  दिया गया, और वजीफा देने की प्रक्रिया शुरु की गई.

मजदूरों की इस शानदार जीत पर 23 जुलाई को यूनियन ने एक विशाल विजय जुलूस का आयोजन किया, जिसमें सैकड़ों मजदूरों और उनके परिवार जनो ने भाग लिया.

संघर्ष के दौरान 11 गांवों में स्थानीय कमेटियों का गठन किया गया.

धरने के दौरान मानसा शहर और आस-पास के गांवों के मजदूर साथियों की तरफ से लंगर सेवा की गई.

धरने के दौरान मिस्त्री गुरुदेव सिंह, बावा सिंह तमकोट, मोदन सिंह नारंग, भजन सिंह भैणीबाघा, सिकंदर सिंह नरिंदरपुरा, करमजीत कौर, हमीरगढ़ ढैपी, बलमसिंह ढैपी, गुरजंट सिंह फफड़े भाईके, करमजीत कौर फफड़े भाईके, बोहड़ सिंह मानसा जैसे नेता लगातार धरने में शिरकत करते रहे. ु

 

वर्षः 13
अंकः 5