शंकर गुहा नियोगी के शहादत दिवस पर रैली का आयोजन

28 सितंबर को छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा (छमुमो) के नेता शहीद शंकर गुहा नियोगी के शहादत दिवस पर रेलवे स्टेशन दुर्ग से विशाल रैली निकली जो मालवीय चैक से जीई रोड होते हुए हुडको स्थित का0 नियोगी के शहादत स्थल पहुंची जहां झंडोत्तोलन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई. तत्पश्चात हुडको के मैदान में बने पंडाल में एक बड़ी सभा आयोजित की गई.

शहीद शंकर गुहा नियोगी की याद में दो मिनट का मौन धारण कर श्रद्धांजलि के साथ सभा शुरू हुई जिसे छमुमो नेताओं भीमराव बागड़े, जनक लाल ठाकुर, कलादास डहरिया, भाकपा-माले लिबरेशन व ऐक्टू नेता अशोक मिरी, सीटू नेता डीवीएस रेड्डी, रेड स्टार नेता सौरा यादव, मानवाधिकार कार्यकर्ता रिमझिम, प्रसाद राव सहित अन्य वक्ताओं ने संबोधित किया. इसी दिन शहीद-ए-आज़म भगत सिंह का जन्म दिवस भी है, और इस महान मौके पर वक्ताओं ने उन्हें याद करते हुए कहा कि उन्होंने मात्र तेईस वर्ष की उम्र में भारतीय जनमानस में मार्क्सवादी विचारधारा के साथ अपनी विशेष जगह बनाते हुए कहा था कि ‘गोरे लोगों के हाथों से भूरे लोगों के हाथों देश की सत्ता का हस्तांतरण होने से देश आजाद नहीं होगा, बल्कि जिस दिन देश के मेहनतकश लोगों के हाथों में सत्ता की बागडोर होगी और वैज्ञानिक समाजवाद का आग़ाज़ होगा उसी दिन देश की जनता को सही मायने में आजादी मिलेगी.’ जहां इस दिन एक महान क्रांतिकारी का जन्म हुआ था वहीं इस दिन एक क्रांतिकारी मजदूर नेता शहीद हुए. ु

 

shankar guha niyogi
Attachment Size
shankar guha niyogi 146.75 KB
वर्षः 13
अंकः 7