ऐक्टू के बैनर तले कोलकाता में मिड-डे मील कर्मियों का विरोध प्रदर्शन

ऐक्टू से संबद्ध ‘ऑल बंगाल संग्रामी मिड-डे मील कर्मी यूनियन’ के आहृान पर 26 सितंबर 2018 को कोलकाता स्थित सियालदह स्टेशन पर सैकड़ों मिड-डे मील कर्मियों की रैली और विरोध प्रदर्शन का आयोजन हुआ. प्रदर्शन को ऐक्टू के राज्याध्यक्ष अतनु चक्रवर्ती, यूनियन की सचिव जयश्री दास, उपाध्यक्ष अर्चना घटक, ऐपवा की उपाध्यक्ष कल्यानी गोस्वामी और सचिव इंद्राणी दत्ता, आदि ने संबोधित किया. सभा की अध्यक्षता यूनियन की अध्यक्ष मीना पाल ने की. प्रदर्शन से यह फैसला लिया गया कि 1 अक्टूबर को शिक्षा मंत्री से मिलकर मांगों का ज्ञापन दिया जायेगा. मांगों में 18,000रू. न्यूनतम वेतन, श्रमिक का दर्जा, पीएफ, ईएसआई, त्यौहार बोनस समेत सामाजिक सुरक्षा, आदि मांगें सरकार द्वारा पूरा करना शामिल थीं.

इस कार्यक्रम के पूर्व एक महीने तक प्रचार कार्य चलाया गया जिसके चलते कई नए इलाकों से मिड-डे मील कर्मी संगठन से जुड़ीं और उन्होंने बढ़चढ़ कर प्रदर्शन में भागीदारी की.

प्रदर्शन के इस कार्यक्रम के प्रचार के दौरान टीएमसी के गुंडों द्वारा तमाम बाधाएं पैदा की गईं. साथ ही  इसी दिन भाजपा द्वारा 12 घंटे के बंद के आहृान के चलते रेलवे आवागमन अस्तव्यस्त रहा, और ऊपर से इस बंद की आड़ में टीएमसी सरकार ने इस दिन स्कूलों में मिड-डे मील कमिर्यों की उपस्थिति अनिवार्य करने का आदेश जारी कर दिया. लेकिन इन तमाम व्यवधानों को नकारते हुए मिड-डे मील कमियों ने अपने प्रदर्शन के कार्यक्रम को जोरदार ढंग से सफल बनाया. ु

 

Kolkota mid day meal workers
वर्षः 13
अंकः 7