सेंटर ऑफ स्टील वर्कर्स की जांच टीम ने ब्लास्ट फरनेस में हुई दुर्घटना की जांच की

सेंटर ऑफ स्टील वर्कर्स की एक जांच टीम ने 9 अगस्त को भिलाई स्टील प्लांट के ब्लास्ट फरनेस-4 और 5 की स्लैग डिस्पेच रूट की गैलरी सी-5 का लगभग 20 मीटर हिस्सा के गिर जाने की घटना की जांच की. जांच टीम में श्याम लाल साहू, बृजेंद्र तिवारी और घनश्याम त्रिपाठी शामिल थे.

जांच टीम ने घटना स्थल का मुआयना कर श्रमिकों से बातचीत की. जांच टीम ने पाया कि इस गैलरी से कन्वेयर बेल्ट के द्वारा ब्लास्ट फरनेस 4 व 5 को स्लैग डिस्पेच किया जाता था. इस गैलरी का समुचित रख-रखाव, सफाई व निरीक्षण न होने के कारण ही गैलरी टूटकर गिरी है. ज्ञातव्य है कि इस गैलरी के नीचे ठेकेदारों के कार्यालय संचालित हो रहे थे जो असुरक्षित हैं.

जांच टीम महसूस करती है कि प्रबंधन का रवैय्या मरम्मत व सफाई को लेकर लापरवाहीपूर्ण रहा है. इसके पहले एसपी-2 में भी ऐसी ही घटना घट चुकी है.

जांच टीम मांग करती है कि गैलरी की सफाई व मरम्मत पर समुचित ध्यान दिया जाये, इस तरह की तमाम गैलरियों की जांच कराई जाये और उनके नीचे बने केबिनों को हटाया जाये तथा सुरक्षा मापदंडों का कड़ाई से पालन किया जाये.

 

वर्षः 13
अंकः 6