का. मिथिलेश यादव

भाकपा-माले के पूर्व बिहार राज्य कमेटी सदस्य, ऐक्टू के पूर्व राज्य कार्यकारिणी सदस्य एवं इंनौस (इंकलाबी नौजवान सभा) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष का. मिथिलेश यादव का गत 15 जून 2018 को असामयिक निधन हो गया. का. मिथिलेश यादव ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत छात्र संगठन आइसा से की थी और नब्बे के दशक में वे बिहार में छात्रों के चर्चित नेता के बतौर स्थापित हुए. छात्र आंदोलन के उपरांत वे लंबे समय तक इनौस के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रहे. 2000 के बिहार विधानसभा चुनाव में वे घोषी विधानसभा से भाकपा-माले के प्रत्याशी थे और 62 हजार से अधिक मत लाकर दूसरे नंबर पर रहे थे. उनके नेतृत्व में जहानाबाद के इलाके में कई लोकप्रिय आंदोलन हुए. हालांकि बाद के दिनों में भाकपा-माले से उनके मतभेद हुए और वे पार्टी से अलग हो गए लेकिन अलगाव के वक्त भी वे पार्टी व सामाजिक-राजनीतिक आंदोलनों से जुड़े रहे. उनके असामयिक निधन पर हम उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं और उनके परिवार के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करते हैं. ु

 

वर्षः 13
अंकः 4