सम्मेलन-कॉन्फ्रेन्स

बिहार राज्य निर्माण मजदूर यूनियन का प्रथम सहरसा जिला सम्मेलन

मजदूर अधिकारों में कटौती व सुरक्षा-सम्मान के सवाल पर बिहार राज्य निर्माण मजदूर यूनियन (सम्बद्ध ऐक्टू एवं एआईसीडब्लूएफ) का प्रथम सहरसा जिला सम्मेलन 31 दिसम्बर 2018 को स्थानीय ऐक्टू जिला कार्यालय परिसर में सम्पन्न हुआ. सम्मेलन की शुरुआत लाल झंडा फहराने और शहीद वेदी पर पुष्प अर्पण व दो मिनट का मौन रखकर मजदूर आंदोलन के सभी शहीदों-मृतकों को श्रद्धांजलि देने के साथ हुई.

झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ का 6ठा राज्य सम्मेलन संपन्न

झारखण्ड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ का 6ठा राज्य सम्मेलन 21-22 दिसम्बर 2018 को रांची में सम्पन्न हुआ. राज्य सम्मेलन का उद्घाटन राजीव डिमरी, महासचिव, ऐक्टू ने किया. उद्घाटन सत्र को ऐक्टू के राज्य सचिव शुभेन्दु सेन, बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ (गोप गुट) के सम्मानित अध्यक्ष रामबली प्रसाद और महासचिव प्रेमचन्द कुमार सिन्हा ने संबोधित किया.

ऐक्टू, भागलपुर का 5वां जिला सम्मेलन संपन्न

केंद्र व राज्य सरकारों की मजदूर विरोधी नीतियों और ट्रेड यूनियन अधिकारों पर बढ़ते हमले के खिलाफ नियमित काम, बेहतर मजदूरी, सुरक्षा व सम्मान के सवाल पर 16 दिसम्बर को स्थानीय संयुक्त भवन परिसर, भागलपुर में ऐक्टू का 5वां जिला सम्मेलन जिला अध्यक्ष एस.के. शर्मा की अध्यक्षता में संपन्न हुआ. सम्मेलन स्थल का नाम का0 यमुना प्रसाद पोद्दार नगर, सभागार का नाम का0 जगदीश तांती व मंच का का0 सुखन तांती के नाम से रखा गया था. इस अवसर पर पूरे परिसर को लाल झंडों-बैनरों व मांग पट्टिकाओं से सुसज्जित किया गया था.

ऐक्टू, उड़ीसा का दूसरा राज्य सम्मेलन

ऐक्टू की उड़ीसा इकाई का दूसरा राज्य सम्मेलन भुवनेश्वर में 10 दिसंबर को नागभूषण भवन में संपन्न हुआ. ऐक्टू के महासचिव राजीव डिमरी ने सम्मेलन का उद्घाटन किया. उद्घाटन करते हुए उन्होंने मोदी सरकार के मजदूर वर्ग पर हमलों का विस्तार से जिक्र करते हुए 8-9 जनवरी की देशव्यापी हड़ताल को जोरदार ढंग से सफल करने का आहृान किया.

कर्मचारी महासंघ (गोप गुट) का 21वां राज्य सम्मेलन संपन्न

8.9 जनवरी को ट्रेड यूनियनों की देशव्यापी आम हड़ताल को सफल बनाने का आहृान

बिहार राज अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ (गोप गुट) का तीन दिवसीय 21 वां राज्य सम्मेलन (23-25 नवंबर) गया कॉलेज, गया के मुंशी प्रेमचंद सभागार में संपन्न हुआ. सम्मेलन की अध्यक्षता भाग्यनारायण चौधरी, माधव प्र. सिंह, रामचंद्र प्रसाद, नागेंद्र सिंह, सुधिष्ठ नारायण झा व लालन सिंह के 6-सदस्यीय अध्यक्षमंडल ने किया. झंडोत्तोलन अध्यक्ष भाग्य नारायण चैधरी ने किया. शहीद वेदी पर पुष्पांजलि के साथ शहीदों को दो मिनट मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई.

अखिल भारतीय खेत व ग्रामीण मजदूर सभा का राष्ट्रीय सम्मेलन

जहानाबाद में गरीब बचाओ-भाजपा भगाओ रैली

अखिल भारतीय खेत व ग्रामीण मजदूर सभा (अ.भा.खेग्रामस) के 6ठे राष्ट्रीय सम्मेलन (19-20 नवंबर) के मौके पर 19 नवंबर 2018 को जहानाबाद के ऐतिहासिक गांधी मैदान में दसियों हजार गरीब-गुरबो, मजदूरों का जुटान हुआ. इसमें मुख्यतः जहानाबाद-अरवल जिला और उससे सटे खिजरसराय (गया) व  मसौढ़ी (पटना) आदि इलाकों से आये दलित-गरीब खेत व ग्रामीण मजदूर शामिल थे.

बिहार में आशा संयुक्त संघर्ष मंच का राज्यस्तरीय कन्वेंशन 1 दिसंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा

पटना में 16 नवंबर को बिहार राज्य आशा कार्यकर्ता संघ, आशा संघर्ष समिति व बिहार राज्य आशा संघ सहित बिहार के तीन आशा संघों ने आशा कार्यकर्ताओं के 12 सूत्री ज्वलन्त मांगो पर संघर्ष तेज करने के लिये एक राज्यस्तरीय कन्वेंशन का आयोजन कर बिहार में “आशा संयुक्त संघर्ष मंच“ का गठन किया ओर मांगों की पूर्ति के लिये आगामी 1 दिसंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा की.

ऐक्टू का दुर्ग जिला सम्मेलन संपन्न

ऐक्टू का दुर्ग जिला सम्मेलन 7 अक्टूबर, 2018 को भिलाई, सेक्टर-6 में सम्पन्न हुआ. सम्मेलन के मुख्य अतिथि ऐक्टू के राष्ट्रीय महासचिव राजीव डिमरी थे तथा पर्यवेक्षक नरोत्तम शर्मा थे. सम्मेलन की शुरूआत दिवंगत साथियों की याद में एक मिनट का मौन रख श्रद्धांजलि देने से हुई.  

सम्मेलन के सुचारु रूप से संचालन के लिए पाँच सदस्यीय अध्यक्षमंडल बनाया गया जिसमें ऐक्टू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भीमराव बागड़े समेत जयप्रकाश नायर, अशोक मिरी, ए.जी. कुरैशी और मोतम भारती शामिल थे.

बिहार राज्य आशा कार्यकर्ता संघ का तीसरा सम्मेलन

आशा को सरकारी कर्मी का दर्जा दो, 18000 मानदेय लागू करो के नारों के साथ ऐक्टू और कर्मचारी महासंघ (गोप गुट) से संबद्ध ‘बिहार राज्य आशा कार्यकर्ता संघ’ का तीसरा राज्य सम्मेलन पटना में 3 नवंबर ’18 को संपन्न हुआ. सम्मेलन ने आशा सहित सभी स्कीम वर्करों को आधुनिक गुलाम बनाने वाली मोदी- नितीश सरकार को आगामी चुनाव में धूल चटाने, 1 दिसंबर से राज्यव्यापी अनिश्चितकालीन हड़ताल से मोदी-नितीश के खिलाफ आर-पार की लड़ाई शुरू करने तथा 8-9 जनवरी ’19 को देशव्यापी दो दिवसीय आम हड़ताल को सफल बनाने का आहृान किया.

श्रमिकों का राष्ट्रीय सम्मेलन 8-9 जनवरी 2019 को दो दिन की देशव्यापी आम हड़ताल का ऐलान

देश के 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियन संगठनों और स्वतंत्र फेडरेशनों के संयुक्त मंच के बैनर तले मजदूरों का राष्ट्रीय सम्मेलन 28 सितंबर 2018 (शहीद-ए-आजम भगत सिंह का जन्म दिवस) को मावलंकर हॉल, नई दिल्ली में आयोजित किया गया. सम्मेलन ने एक घोषणापत्र (देखें बाक्स) जारी किया. घोषणापत्र में मोदी सरकार की जन-विरोधी, मजदूर-विरोधी, राष्ट्र-विरोधी नीतियों व कदमों, सरकार द्वारा मजदूरों की 12-सूत्री मांगों को नजरअंदाज करने और उनपर हमलों को निरंतर बढ़ाने के खिलाफ आंदोलन को और अधिक तेज करने के लिये 8 और 9 जनवरी 2019 को दो दिन की देशव्यापी आम हड़ताल का ऐलान किया.